Breaking

Tuesday, July 7, 2020

अमेरिका में ऑनलाइन क्लास वाले विदेशी छात्रों को वापस भेजा जाएगा अपने देश

U.S. इमिग्रेशन और कस्टम इनफोर्समेंट (ICE) डिपार्टमेंट ने सोमवार को घोषणा की कि ऐसे छात्र जिनकी कक्षाएं पूरी तरह से ऑनलाइन चल रही हैं, उन्हें अगले सेमेस्टर के लिए वीजा जारी नहीं किया जाएगा और न ही ऐसे छात्रों को प्रवेश दिया जाएगा।
Foreign students in America
Foreign students whose classes move online cannot stay in America

Foreign students whose classes move online in America will be sent back to their country and Student visa will be withdrawn


कोरोनावायरस प्रकोप (coronavirus outbreak ) के कारण अमेरिका में रहने वाले भारतीय छात्रों को बड़ा झटका लग सकता है।
सोमवार को यू.एस. इमिग्रेशन और कस्टम इनफोर्समेंट  (ICE) डिपार्टमेंट ने घोषणा की है कि जिन छात्रों की कक्षाएं केवल ऑनलाइन मॉडल पर आयोजित की जा रही हैं ऐसे छात्रों का वीजा वापस लिया जाएगा और नॉनइमिग्रैंट F-1 और M -1 छात्रों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा जिनकी केवल ऑनलाइन क्लासेज चल रही है।
यू.एस ICE विभाग के अनुसार, ऐसे छात्रों को अमेरिका में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जाएगी या यदि वे अभी भी अमेरिका में रह रहे हैं, तो उन्हें अमेरिका छोड़कर अपने देश जाना होगा। अगर छात्र ऐसा नहीं करते हैं, तो उन्हें इसका परिणाम भुगतना पड़ सकता है।

ICE के अनुसार, F-1 छात्र शैक्षणिक पाठ्यक्रम कार्य में भाग लेते हैं जबकि M-1 छात्र 'व्यावसायिक पाठ्यक्रम' के छात्र होते हैं।
हालांकि, अमेरिका के अधिकांश विश्वविद्यालयों ने अभी तक अगले सेमेस्टर की योजना के बारे में नहीं बताया है।
अधिकांश कॉलेजों के लिए हाइब्रिड मॉडल की घोषणा की गई थी, लेकिन कुछ बड़े विश्वविद्यालयों जैसे हार्वर्ड ने छात्रों के लिए पूरी तरह से ऑनलाइन कक्षाएं प्रदान कीं।
ICE ने राज्यों के विभागों से कहा कि ऐसे छात्र जिनकी कक्षाएं पूरी तरह से ऑनलाइन चल रही हैं, उन्हें अगले सेमेस्टर के लिए वीजा जारी नहीं किया जाएगा और न ही ऐसे छात्रों को राज्य में प्रवेश करने दिया जाएगा।

No comments:

Post a Comment