Breaking

Monday, March 2, 2020

कोरोना वायरस के प्रकोप को नियंत्रित करने की संभावना कम हो रही है: विश्व स्वास्थ्य संगठन

Dr. Tedros Adhanom ने कहा कोरोना वायरस के प्रकोप को नियंत्रित करने की संभावना कम होती जा रही है। 
डॉ। टेड्रोस का कहना है कि यद्यपि इस वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या चीन के बाहर अपेक्षाकृत कम है, लेकिन संक्रमण की स्थिति चिंताजनक है।
coronavirus outbreak
Dr. Tedros Adhanom said the possibility of controlling the coronavirus outbreak is becoming less likely.

Chances of controlling the coronavirus outbreak are decreasing: the World Health Organization

कोरोना वायरस के प्रकोप को नियंत्रित करने की संभावना कम हो रही है: विश्व स्वास्थ्य संगठन

विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख ने कोरोना वायरस के मामलों पर चिंता व्यक्त की है जिनका चीन से सीधा या अन्य पुष्टि मामलों से कोई सीधा संबंध नहीं है।
Dr. Tedros Adhanom का यह बयान ईरान में वायरस से हुई दो नई मौतों की पुष्टि करने के बाद सामने आया।
ईरान में कोरोना वायरस से मरने वालों की कुल संख्या चार हो गई है।
डॉ। टेड्रोस अधनोम ने कहा कोरोना वायरस के प्रकोप को नियंत्रित करने की संभावना कम होती जा रही है। 
ईरानी स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि यह वायरस संभवतः ईरान के सभी शहरों में पहले से मौजूद था।
चीन के बाहर 26 देशों में कोरोना वायरस के पुष्ट मामलों की संख्या बढ़कर 1152 हो गई है और कुल आठ लोगों की मौत हो गई है। इसमें दक्षिण कोरिया में मारे गए दो लोग भी शामिल हैं।
चीन में होने वाली मौतें और जापानी क्रूज जहाज में होने वाली मौतों के अलावा, दक्षिण कोरिया में कोरोना वायरस के सबसे अधिक पुष्ट मामले सामने आऐ हैं।
चीन का कहना है कि वायरस से प्रभावित लोगों की संख्या बढ़कर 75567 हो गई है, जिसमें 2239 मौतें भी शामिल हैं।
चीन के हुबेई (Hubei) प्रांत में उत्पन्न होने वाले नए वायरस COVID-19 श्वसन रोग का कारण बनता है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख ने क्या कहा?

डॉ। टेड्रोस का कहना है कि यद्यपि इस वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या चीन के बाहर अपेक्षाकृत कम है, लेकिन संक्रमण की स्थिति चिंताजनक है।
लेकिन हम इसे लेकर चिंतित हैं कि कई मामलों कां इस बीमारी के साथ कोई सीधा संबंध नहीं दिख रहा है।
उन्होंने कहा कि ईरान में होने वाली मौतें और इनफकशन की स्थिति घातक और "बेहद चिंताजनक" है।
लेकिन उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि बीमारी के प्रसार को रोकने के लिए चीन और अन्य देशों द्वारा अभी भी और कदम उठाए जा सकते हैं।
विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि ईरान और लेबनान में बुनियादी सुविधाएं हैं जो वायरस का निदान कर सकती हैं, और विश्व स्वास्थ्य संगठन उन्हें अतिरिक्त सहायता प्रदान करने की पेशकश कर रहा है।
  उन्होंने इन देशों के नाम संदेश में कहा है कि उन्हें केवल प्रकोप के प्रसार को रोकने के लिए अधिक संसाधनों की आवश्यकता है।
लेकिन डॉ। टेड्रोस के अनुसार, उनका संगठन उन देशों में वायरस के संभावित प्रसार को लेकर चिंतित है, जहां स्वास्थ्य व्यवस्था ठीक नहीं है।
News source: BBC

No comments:

Post a Comment